बुध. सितम्बर 30th, 2020
  1. कानपुर शूटआउट की जांच में अहम खुलासा हुआ है। कॉल डिटेल से पता चला कि है कि चौबेपुर पुलिस थाने के दो दारोगा और एक सिपाही बदमाश विकास दुबे के संपर्क में थे। इसके बाद दरोगा कुंवर पाल, कृष्ण कुमार शर्मा और सिपाही राजीव को सस्पेंड कर दिया गया है।
  2. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कड़े निर्देशों के बाद राज्य में टॉप 10 अपराधियों की सूची नए सिरे से तैयार की जा रही है। योगी ने एडीजी जोन की भी जिम्मेदारी इन अपराधियों की निगरानी में तय कर दी है। इसके तहत 14 हजार से अधिक अपराधी और 25 से ज्यादा माफिया अब पुलिस के सीधे निशाने पर होंगे।
  3. लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच जारी तनाव के बीच दोनों देशों की सेनाओं के पीछे हटने की सूचना है। सूत्रों के अनुसार चीन ने अपने सैनिकों को गलवान नदी घाटी में कम से कम एक किलोमीटर पीछे किया है। भारतीय जवान भी पीछे आ गए हैं और दोनों पक्षों के सैनिकों के बीच एक बफर ज़ोन बना दिया गया है।
  4. कोरोना वायरस के बारे में अभी तक कहा जाता था कि यह शारीरिक संपर्क में आने से फैलता है लेकिन 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने अपने शोध के आधार पर दावा किया है कि यह वायरस हवा से भी फैलता है। वैज्ञानिकों का मानना है कि वायरस के छोटे-छोटे कण हवा में भी जिंदा रहते हैं और वे भी लोगों को संक्रमित कर सकते हैं।
  5. कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत ने रूस को पीछे छोड़ दिया है। अब भारत विश्व में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। भारत में संक्रमितों की संख्या 6 लाख 90 हजार के पार पहुंच गई है और अब तक 19 हजार 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।
  6. कार्मिक मंत्रालय ने केंद्रीय और प्रादेशिक प्रशिक्षण संस्थानों को 15 जुलाई से खोलने के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) जारी कर दिया है। एसओपी के मुताबिक, ‘जहां तक संभव हो प्रशिक्षण कार्यक्रम डिजिटल/ऑनलाइन/ वर्चुअल मोड में आयोजित किए जाएंगे।
  7. कुवैत की नेशनल असेंबली की कानूनी और विधायी समिति ने अप्रवासी कोटा बिल के मसौदे को मंजूरी दे दी है। इस बिल के कारण करीब आठ लाख भारतीयों को कुवैत छोड़ना पड़ सकता है।
  8. खालिस्तान का समर्थन करने वाले प्रतिबंधित संगठन सिख्स फॉर जस्टिस (SFJ) पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कठोर कार्रवाई की है। इस संगठन से जुड़ी करीब 40 वेबसाइट को भारत में ब्लॉक कर दिया गया है। इन पर अलगाववाद को बढ़ावा देने और युवाओं को भटकाने जैसे आरोप हैं।
  9. राजस्थान की कक्षा नौवीं की पुस्तक में स्वतंत्रता आंदोलन एवं शौर्य परंपरा के तहत 1948 से लेकर साल 2019 तक शहीद हुए वीरों की गाथा को शामिल किया गया है। जिसमें पुलवामा हमले के शहीद भी शामिल हैं।
  10. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और अन्य नेताओं ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की। पीएम मोदी ने कहा कि श्यामा प्रसाद ने भारत की एकता को मजबूत करने के लिए साहसी प्रयास किया।
0 0 vote
Article Rating

By Unbiased Desk

E-mail : unbiaseddesk@gmail.com

Share your comment.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x