UNBIASED india | हिंदी

सच से सरोकार

Category : शाबाश

इनके लिए सलाम तो बनता है

Show Timeशाबाश

शाबाश मलय! ‘रमज़ान अली’ के बाद अब ‘मंगलामुखी’ का भी है इंतज़ार

सपने ज़रुर देखिए और तब तक देखते रहिए जब तक उन्हें पूरा करने के रास्ते पर आप आगे न बढ़ जाएं। ये लाइनें बिल्कुल ठीक बैठती हैं गोरखपुर के मलय मिश्रा पर। लॉकडाउन के दौरान सभी ने कुछ न कुछ किया लेकिन एंकर, अभिनेता और निर्देशक मलय मिश्रा ने कुछ ऐसा किया जिसकी इस समय […]Read More

शाबाश

डॉ. अरविंद : कलयुग का सारथी

गुमसुम सी हैं शहर की गलियां, गुम सी हैं मासूमों की मस्तियां, मुक्त हो गगन में उड़ते पंछी भी हैं हैरान कि आखिर घरों में क्यों कैद है हर इंसान। किसी को नहीं पता कि आखिर कब आएगी वो सुबह जब एक बार फिर सब बिना किसी डर के घर से बाहर निकल पाएंगे। अपनों […]Read More

error: Content is protected !!