विदेशी एप पर देश की निर्भरता कम करने और देश की प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने नई पहल की है। इसके लिए आज नीति आयोग ने अटल इनोवेशन मिशन के सहयोग से डिजिटल इंडिया आत्मनिर्भर भारत इनोवेट चैलेंज की शुरुआत की।

इसके तहत समाचार, मनोरंजन, सोशल नेटवर्किंग समेत 8 श्रेणियों में भारत में बनाये गए ऐसे एप की पहचान की जानी है, जिनमें विश्वस्तरीय एप के रूप में विकसित होने की क्षमता है। इसके लिये एप निर्माताओं को नगद पुरस्कार भी दिए जाएंगे। इसके अलावा योजना के तहत आंत्रप्रेन्योर और स्टार्टअप के लिए प्रोत्साहन देकर ऐसा वातावरण तैयार किया जाएगा, जिससे देश के मेधावी दुनियाभर में टेक सॉल्यूशन मुहैया करने के लिए एप का विकास कर सकें और उसे आगे बढ़ा सकें। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य भारत में भारत और दुनिया के लिए निर्माण करना बताया जा रहा है।

इस प्रतियोगिता की जानकारी खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दोपहर ट्वीट कर दी। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि यदि आपका इस तरह का कोई उत्पाद पहले से ही है या आपके पास इस तरह के एप को विकसित करने की सोच और क्षमता है तो यह आपके लिए बेहतरीन अवसर और चुनौती है। उन्होंने भारत के तकनीकी समुदाय से संबंधित युवाओं और विशेषज्ञों से प्रतियोगिता में शामिल होने की भी अपील की है।

बता दें कि पिछले दिनों भारत सरकार ने 59 चीनी एप को देश की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए खतरा बताते हुए प्रतिबंधित कर दिया था। दरअसल, चीन के एक कानून के तहत चीनी कंपनी वहाँ की सुरक्षा एजेंसियों की ओर से मांगी गई हर जानकारी देने के लिए बाध्य हैं, जिनका प्रतिद्वंद्वी देशों के खिलाफ इस्तेमाल किए जाने का खतरा रहता है।

0 0 vote
Article Rating