रस्टी और केन वाले रस्किन बॉन्ड

हम सभी के बचपन में दो किरदार हमारे साथ रहे और मशहूर भी हुए, रस्टी और केन। आज इन्हीं किरदारों को रचने वाले रस्किन बॉन्ड का जन्मदिन है। 19 मई 1934 को हिमाचल प्रदेश के कसौली में उनका जन्म हुआ। उनका बचपन शिमला के जामनगर में गुजरा। अपने पिता की मौत के बाद रस्किन बॉन्ड अपनी दादी के साथ देहरादून में रहने लगे। वे अपनी दादी के बेहद करीब थे, यही वजह है कि उनकी कई कहानियां दादी के किरदार के इर्द गिर्द घूमती हैं। अपने बचपन के छोटे छोटे किस्सों को शब्दों और कल्पनाओं में पिरोकर उन्होंने लगभग पांच सौ से ज्यादा कहानियां, उपन्यास, संस्मरण और कविताएं लिखी हैं, जो ज्यादातर बच्चों के बीच लोकप्रिय हैं।

उनकी कई कहानियों पर फिल्म भी बन चुकी है। 80 के दशक में एक्टर शशि कपूर और डायरेक्टर श्याम बेनेगल ने उनकी रचना ‘Flight of Pigeons’ पर जुनून नाम की फिल्म बनाई। विशाल भारद्वाज ने उनकी किताब सुज़ैन सैवन हसबैंड्स (Sussain Seven Husbands)’ पर सात खून जैसी रोमांटिक थ्रिलर के साथ साथ एक हास्य ड्रामा आधारित फिल्म ‘The Blue Umbrella’बनाई  है।

1999 में भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री से नवाज़ा। 2014 में उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। इसके अलावा तमाम पुरस्कारों के बीच उन्हें उनकी रचना ऑवर ट्रीज़ स्टिल ग्रो इन देहरा के लिए साहित्य अकादमी द्वारा पुरस्कृत किया गया।

आइए उनके जन्मदिन के इस ख़ास मौके पर उनकी कही कुछ ख़ास बातें आपको बताते हैं-

  • ‘प्रेम जो मृत्यु से परे है, वही जीवन को बचाए रखता है’।
  • ‘और जब सारी जंग खत्म होगी, तितली तब भी सुंदर होगी।’
  • ‘उधार ली गई किताबें और छाते कभी कभी ही लौटाए जाते हैं।’
  • ‘आमतौर पर लेखक ज्यादा बात नहीं करते क्योंकि वे अपनी बातचीत को अपनी किताब के पाठक के लिए बचाकर रखते हैं।’
  • ‘हम रास्ते के अंत तक हिम्मत से पहुंचते हैं न कि किस्मत से।’

रस्किन बॉन्ड सर को टीम UNBIASED INDIA की तरफ से जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं।

Share this Article

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!