दोस्त के नाम…

International Friendship Day 2021

दोस्त और दोस्ती के नाम जाने कितने किस्से, कहानियां, तराने और फ़साने हैं, जिन्हें सभी ने अपने तरीके से सुनाए हैं। तो आज हमारे साथ सुनिए बेहतरीन शायरों की कलम से निकले कुछ ख़ास अहसास, दोस्तों के नाम।

दाग दुनिया ने दिए, जख्म जमाने से मिले
हमको तोहफे ये तुम्हें दोस्त बनाने से मिले

  • कैफ़ भोपाली

दोस्ती आम है लेकिन ऐ दोस्त
दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से

  • हफ़ीज़ होशियारपुरी

मैं उसूलों में कोई ढील नहीं कर सकता
दोस्ती इश्क़ में तब्दील नहीं कर सकता

  • आतिश इंदौरी

दोस्ती को बुरा समझते हैं
क्या समझ है वो क्या समझते हैं

  • नूह नारवी

तुम्हारी दोस्त-नवाजी में गर कमी होती
ज़मीं टूट के तारों पे गिर गई होती

  • सलमान अख्तर

परछाईं बन के साथ रहे तेज़ धूप में
बीमार दोस्तों के लिए हम दवा हुए

  • सलमान अख्तर

ज़िद हर इक बात पर नहीं अच्छी
दोस्त की दोस्त मान लेते हैं

  • दाग़ देहलवी

वो कैसे लोग होते है
जिन्हें हम दोस्त कहते है
न कोई खून का रिश्ता
ना कोई साथ सदियों का
मगर एहसास अपनों सा
वो अनजाने दिलाते है

  • इरफ़ान अहमद मीर

शर्तें लगाई जाती नहीं दोस्ती के साथ
कीजे मुझे क़ुबूल मिरी हर कमी के साथ

  • वसीम बरेलवी

हम को यारों ने याद भी न रखा
‘जौन’ यारों के यार थे हम तो

  • जौन एलिया
Share this Article

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!