ज़िंदगी Calling | सुकून IN, टेंशन OUT

हम सभी एक ऐसी दौड़ का हिस्सा बन गए हैं, जिसकी विनिंग लाइन हमें नज़र नहीं आती। हमें लगता है कि बस अगले ही पल हम वो हासिल कर लेंगे जो हम करना चाहते हैं, पर इस सवाल का जवाब बहुत सारे लोगों के पास नहीं है कि आखिर वो क्या है जिसे हासिल करने के बाद हमें सुकून मिलेगा। हम तनाव मुक्त हो जाएंगे, आराम से सो पाएंगे। क्या सिर्फ एक अच्छी नौकरी, बैंक बैलेंस और समाज में एक ओहदे से खुशी मिल जाएगी? इसका जवाब है नहीं, पर फिर भी ये हम सभी की सच्चाई है कि हम बस पैसे और करियर के पीछे इस तरह भाग रहे हैं कि खुद को वक्त देते ही नहीं। और यही वजह है कि हमारे अंदर इतना खालीपन आ गया कि हमारे अंदर बिना किराया दिए कुछ किरायेदार आकर बस गए हैं, जो हैं-

  • अनिद्रा
  • निराशा, तनाव
  • भय, घबराहट
  • बेचैनी, गुस्सा
  • उदासी
  • आलस्य, थकावट।
  • कई तरह की बीमारियां।

जबकि हमारे तन और मन दोनों को चाहिए-

  • सिर्फ और सिर्फ सुकून और खुशी।
  • जब हम सुबह उठें तो हम प्रकृति के अनुपम नज़ारे को महसूस कर सकें और उस समय इसमें किसी तरह की उदासी या तनाव न हो।
  • हम जब अपने काम पर जाएं या कुछ भी काम करें तो पूरे जोश के साथ करें।
  • किसी से मिलें तो गर्मजोशी के साथ मिलें।

कुल मिलाकर ज़िंदगी को हम ज़िंदगी को ज़िंदगी की तरह जिएं। इसके लिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं उन सीक्रेट साथियों के बारे में जिनको अपनी डेली लाइफ में शामिल करके आप टेंशन फ्री रह सकते हैं…

  • हर दिन योग ज़रुर करें। ज़रुरी नहीं कि आप बहुत कठिन योग करें, आप 15 से 30 मिनट देकर भी योग के ज़रिए अपने तन और मन को खुश रख सकते हैं।
  • प्राणायाम के ज़रिए आप अपने मन को शांत रख सकते हैं।
  • हमेशा उन चीज़ों के बारे में सोचें जो आपके पास हैं, न कि उनके बारे में जो आपके पास नहीं हैं।
  • नकारात्मक ऊर्जा वाले लोगों से खुद को दूर रखें। हमेशा ऐसे लोगों से बातें करें जिनसे बात करके आप कुछ सीखें, जो आपको सुनते हों और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हों।
  • रोज़ सुबह उठकर और सोते समय ईश्वर को शुक्रिया ज़रुर कहें, उन्हें याद ज़रुर करें।
  • सुबह या शाम या दिन में जब भी वक्त मिले, टहलना शुरु कीजिए। इससे तन और मन दोनों फिट महसूस करेंगे।
  • अक्सर लोगों का कहना होता है कि हमें ऑफिस जल्दी पहुंचना होता है और देर से आना होता है, इसलिए हम खुद को वक्त नहीं दे पाते। तो आप ऑफिस में भी काम के दौरान अपनी कुर्सी पर बैठकर स्ट्रैचिंग और Deep Breathing कर सकते हैं। हर तीस मिनट पर छोटी सी walk आपको Stress free रखेगी।
  • अच्छी किताबें पढ़िए, अच्छे गाने सुनिए, Motivational Speakers को सुनिए, विश्वास मानिए आपको अच्छा महसूस होगा।
  • Indoor या Outdoor games को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाइए।
  • अच्छी Diet, थोड़ी सी Exercise, कुछ पल योग और प्राणायाम को दिजिए और फिर देखिए कैसे ज़िंदगी का एंगल अपनी पटरी पर लौट आता है।

हमेशा याद रखिए कि हम जो दिल से करना चाहते हैं या हासिल करना चाहते हैं, उसे करने से हमें कोई नहीं रोक सकता, इसलिए बस अब ख़ुद को वक्त देना शुरु कीजिए। आज अंतरराष्ट्रीय योग दिवस भी है तो आज से ही ज़िंदगी में शामिल कीजिए योग, प्राणायाम और सकारात्मकता। तभी तो जी पाएंगे आप सही मायनों में Healthy और Happy ज़िंदगी।

Share this Article
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!