सुशांत! लौट आओ ना…

जब रात बहुत गहरा चुकी होगी,
सूरज अंबर की चादर से धीरे—धीरे
बाहर झांक रहा होगा,
तब मैं आकाश की ओर देखूंगी,
वहां जो सबसे चमकदार तारा होगा
वो होगा सबका प्यारा सुशांत…।

पिछले छह महीने से बुरी तरह अवसाद से घिरे सुशांत ने 14 जून 2020 को अपने बांद्रा वाले फ्लैट में फांसी लगाकर अपनी ज़िंदगी खत्म कर ली। लेकिन, उनकी यादों का क्या? जब—तब चली आती हैं और रुला जाती हैं। सुशांत, जिस दूरबीन से तुम सितारों को देखा करते थे, क्या उससे देखने पर तुम भी दिखोगे?सुशांत, बार—बार दिल यही कहता है कि प्लीज, लौट आओ ना…।

21 जनवरी 1986 को पटना में कृष्णा कुमार सिंह और ऊषा सिंह के घर पर मासूम सी किलकारी गूंजी। तब किसी को नहीं पता था कि ये किलकारी एक दिन पूरी दुनिया में अपनी कला का जलवा कुछ यूं बिखेरेगी कि हर दिल पर राज करने लगेगी। माता—पिता ने बड़े ही प्यार, नाज़ और उम्मीदों के साथ अपने लाडले का नाम रखा सुशांत सिंह राजपूत।
सेंट कैरेंस हाई स्कूल, पटना से शुरुआती पढ़ाई करने के बाद आगे की पढ़ाई सुशांत ने दिल्ली के कुलाची हंसराज मॉडल स्कूल से की। इसके बाद दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से उन्होंने मैकेनिकल की पढ़ाई पूरी की। सुशांत पढ़ाई में बहुत अच्छे थे, पर वे फिल्मों में अपना करियर बनाना चाहते थे, इसलिए पटना से दिल्ली और फिर दिल्ली से उन्होंने मुंबई का रुख किया।

सुशांत का मुंबईनामा
सुशांत ने अपने करियर की शुरुआत बैकअप डांसर के रुप में की। उन्होंने श्यामक डावर से भी डांस सीखा। 51वें फिल्मफेयर अवॉर्ड में उन्होंने बैकग्राउंड डांसर के तौर पर काम किया। सुशांत थियेटर से जुड़े और जमकर मेहनत की। सुशांत ने मशहूर एक्शन डायरेक्टर अलन अमीन से मार्शल आर्ट्स भी सीखा।
सुशांत के अंदर एक जुनून था खुद को हर दिन बेहतर बनाने का। खुद को तराशने का। इस दौरान वो अलग—अलग प्रोडक्शन हाउसेस के चक्कर लगाते रहे और आखिरकार साल 2008 में ‘किस देश में है मेरा दिल’ से उन्होंने छोटे परदे की दुनिया में कदम रखा।

पवित्र रिश्ता से पहचान
साल 2009 में वे नज़र आए मशहूर टीवी सीरियल ‘पवित्र रिश्ता’ में मानव के किरदार में। इस शो से वे अपनी पहचान बनाने में कामयाब रहे। ज़रा नच के दिखा सीज़न 2 में वे प्रतिभागी के तौर पर नज़र आए। इसके बाद झलक दिखला जा के सीज़न 4 में बतौर प्रतिभागी उन्होंने अपने नच का जलवा दिखाया और मोस्ट कंसिस्टेंट परफॉर्मर का खिताब अपने नाम किया। ये शो वैसे तो डांस का था, पर यहां सुशांत के अंदर का जो मासूम इंसान है उसकी झलक भी लोगों को दिखी। मुझे आज भी याद है जब उन्होंने कहा था कि मैं अपनी मां को बहुत मिस करता हूं, मेरी ज़िंदगी का सबसे बड़ा मलाल यही है कि वो मुझे बतौर एक्टर नहीं देख पाईं। उस समय टेलीविज़न के उस पार उनकी आंखें छलकी थीं और इस पार जाने कितनी आंखें बरस गईं।

बॉलीवुड का टिकट
साल 2013 में सुशांत को बॉलीवुड का टिकट मिला फिल्म ‘काय पो चे’ से। इस फिल्म में सुशांत के अभिनय ने हर किसी को प्रभावित किया। कहते हैं कि इस फिल्म में उनके द्वारा निभाए गए किरदार की प्रेरणा उन्हें अपनी बहन मीतू सिंह से मिली थी, जो कि राज्य स्तरीय क्रिकेट खिलाड़ी हैं। इस फिल्म के बाद सुशांत ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

सुशी की लव लाइफ
सुशांत को प्यार से सभी सुशी बुलाते थे। अगर बात करें उनकी लव लाइफ की तो पवित्र रिश्ता के सेट पर एक साथ काम करते—करते सुशांत और अंकिता लोखंडे काफी करीब आ गए। उसके बाद दोनों ने लिव इन में रहने का फैसला किया और करीब सात साल दोनों एक साथ रहे। कहते हैं कि जब सुशांत फिल्मों में आए तो कोई भी किसिंग सीन करने से पहले वे अंकिता को बताते थे और उनसे परमिशन मिलने के बाद ही ऐसा कोई सीन करते थे। लेकिन बदलते वक्त के साथ वे कामयाबी की सीढ़ियां जैसे—जैसे चढ़ते गए, दूसरी हीरोइन्स से सुशांत करीब होते गए और अंकिता से दूर। फाइनली, दोनों अलग हो गए।
अंकिता से ब्रेकअप के बाद सुशांत अपनी को स्टार कृति सेनन के करीब आ गए। कहा ये भी जाता है कि अंकिता से अलगाव की वजह कृति ही थीं। वो अलग बात है कि ये दोनों ज्यादा वक्त तक साथ नहीं रहे और साल 2017 में इनके ब्रेकअप की ख़बरें आने लगीं।
इसके बाद सुशांत और जलेबी फेम एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती की नज़दीकियों की ख़बरें आने लगीं। वो अलग बात है कि इस रिश्ते को लेकर दोनों में से किसी ने भी कभी कोई ऑफिशियल स्टेटमेंट नहीं दिया, लेकिन रिया और सुशांत एक साथ रहने लगे थे और दोनों को पेरिस और लद्दाख की ट्रिप पर भी एक साथ देखा गया था। पिछले एक साल से रिया ही उनकी फोफेशनल लाइफ भी हैंडल कर रही थीं। रिया ने सुशांत के बर्थडे पर एक पोस्ट शेयर करते हुए उन्हें गोल्डन हार्ट वाला बताया था।

सुशांत की फिल्में
काय पो चे- (साल 2013), शुद्ध देसी रोमांस (साल 2013), पीके (साल 2014), डिटेक्टिव ब्योमकेश बख्शी (साल 2015), एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी (साल 2016), राब्ता (साल 2017), चंदा मामा दूर के (साल 2018), केदारनाथ (साल 2018), सोनचिड़िया (साल 2019), छिछोरे (साल 2019), ड्राइव साल 2019। साल 2020 यानी इस साल दिसंबर में सुशांत की दिल बेचारा रीलीज़ होने वाली है जो उनके जीवन की आखिरी फिल्म साबित हुई।

अधूरा सफर
आइए अब आपको बताते हैं उन फिल्मों के बारे में जिन्हें सुशांत अधूरा छोड़कर चले गए। इन फिल्मों की शूटिंग लॉकडाउन की वजह से रुकी हुई थी।

राइफलमैन
1962 में भारत और चीन पर बेस्ड इस फिल्म में सुशांत महावीर चक्र विजेता जसवंत सिंह का किरदार निभाने वाले थे। इस फिल्म का ऐलान 15 जनवरी को ही हो गया था, लेकिन फिल्म की शूटिंग अभी शुरू नहीं हुई थी।
पानी- शेखर कपूर अपनी इस फिल्म में सुशांत को कास्ट करने वाले थे, इस फिल्म पर काफी काम हो चुका था, लेकिन कुछ कारणों की वजह से इस प्रोजेक्ट को रोक दिया गया।
इमरजेंस
आनंद गांधी की इस फिल्म में पहले इरफान ख़ान काम करने वाले थे, लेकिन उनके निधन के बाद इस फिल्म के लिए सुशांत को साइन किया गया था।
दिल बेचारा- कोरोना की वजह से सुशांत की यह फिल्म अब ओटीटी प्लेटफार्म पर रीलीज़ होने जा रही है। इस फिल्म में वे मेन लीड में थे और उनके साथ संजना सांघी नज़र आएंगी।
12 एपिसोड सीरीज़
साल 2018 में इनसेइ वेंचर्स के साथ मिलकर सुशांत 12 एपिसोड्स की स्पेशल सीरीज़ बना रहे थे, जिसमें वे एपीजे अब्दुल कलाम से लेकर चाणक्य तक के रोल निभाने वाले थे।

अलविदा सुशांत
सुशांत के जाने के बाद बॉलीवुड का जो चेहरा सामने आया है वो काफी चौंकाने वाला और डराने वाला भी है। सपने देने वाले इस बॉलीवुड को लेकर सुशांत ने सपने देखे और उन्हें काफी हद तक पूरा भी किया, पर जिस तरह से उन्होंने सबको अलविदा कहा, उसके लिए कोई भी तैयार नहीं था। 34 साल की उम्र में सुशांत सिंह राजपूत ने जो कामयाबी हासिल की, उसे सदियों ज़माना याद रखेगा।

Share this Article

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!