ए सर्किट! आज अपने मुन्ना भाई का बर्थडे है रे, बोले तो आज अपना बाबा पूरे स्वीट सिक्सटी वन का हो गया।
हा!हा!हा! क्या हुआ? आप कहीं ऐसा तो नहीं सोच रहे कि मुझे मुन्ना मैनिया (Munna Mania) हो गया। अरे वहीच बीमारी जिसमें आदमी अपने फेवरेट कैरेक्टर की तरह एक्ट करने लगता है। नहीं रे मामू, वो तो आज अपने संजू बाबा का बर्थडे है तो अपुन सोचा कि कुछ अलग हो जाए, पर अपुन जानता है कि ज्यादा देर अइसा लिखा तो एडिटर साहब बोलेंगा कि बाबा बोलता है अब बस हो गया।

… हां तो मशहूर अभिनेता सुनील दत्त और नरगिस के घर 29 जुलाई 1959 को एक प्यारे से बच्चे ने जन्म लिया। नाम रखा गया संजय दत्त। प्यार से लोग संजू बाबा कहकर बुलाते। फिर अचानक कुछ ऐसा हुआ कि लोग उन्हें खलनायक कहकर बुलाने लगे। अपनी मां की मौत के बाद संजय दत्त काफी टूट गए थे। वे नशे के इतने आदी हो चुके थे कि उन्हें कभी नहीं लगा था कि वे इस लत से बाहर भी निकल पाएंगे।

अपनी नशे की लत के बारे में हाल ही में बात करते हुए संजय दत्त ने कहा था-

सुबह का समय था और मुझे भूख लगी था। उस वक्त तक मेरी मां गुजर चुकी थीं। मैंने नौकर से कहा कि खाना दे दीजिए। उसने कहा बाबा दो दिन हो गए आपने खाना नहीं खाया, बस सोते रहे। यह कहकर वह रोने लगा। मैं बाथरूम में गया और मैंने अपने आपको देखा तो मैं मरने की हालत में था। मेरे मुंह और नाक से खून निकल रहा था। वह सब देखकर मैं डर गया। सुबह 7 बजे अपने पिता के पास गया और बोला कि मुझे मदद की जरूरत है। मुझे ड्रग्स की लत लग गई है। मैं काफी भाग्यशाली था कि मेरे पिता मुझे यहां से अमेरिका पुनर्वास केंद्र ले गए। वहां मैं दो साल रहा, लेकिन पहले साल मन में ऐसा ख्याल आया कि एक बार दोबारा ट्राई किया जाएगा, लेकिन फिर मैंने कहा नहीं, न करूंगा न करने दूंगा।’

ऐसे जाने कितने किस्से हैं जो संजू बाबा के हिस्से आए। …तो आइए अब आपको उनकी ज़िंदगी से जुड़ी छोटी बड़ी कुछ ख़ास बातें बताते हैं-

  • संजय दत्त का पूरा नाम संजय बलराज दत्त है।
  • 1981 में आई फिल्म ‘रॉकी’ से संजय दत्त ने बॉलीवुड में कदम रखा। लेकिन 1986 में आई फिल्म ‘नाम’ से उन्हें बॉलीवुड में एक नई पहचान मिली।
  • साल 1993 में आई फिल्म ‘खलनायक’ में नेगेटिव किरदार के बावजूद संजय दत्त ने फैन्स के दिल में जगह बनाई और लोग उन्हें खलनायक कहकर बुलाने लगे।
  • खलनायक की रीलीज़ से पहले संजय दत्त का नाम मुंबई बम धमाके में आया। अवैध हथियार रखने के आरोप में उन्हें कई बार जेल के चक्कर काटने पड़े। उन्हें साल 2013 में 18 महीने के लिए जेल भेजा गया। फरवरी 2016 में वे जेल से बाहर आए।
  • संजय दत्त की ज़िंदगी पर राजकुमार हीरानी ने संजू नाम से एक फिल्म भी बनाई जिसमें संजय दत्त का किरदार अभिनेता रणबीर कपूर ने निभाया।
  • मुन्ना भाई एमबीबीएस में उनके किरदार को फैन्स ने काफी सराहा। सर्किट के साथ उनकी बॉन्डिंग की भी जमकर तारीफ हुई और मुन्ना भाई और सर्किट काफी फेमस हुए। इस फिल्म के लिए उन्हें अवॉर्ड से भी नवाज़ा गया।
  • अग्निपथ का कांचा चीना हो या वास्तव का रघु या फिर मुन्ना भाई का मुन्ना, संजय दत्त ने हर तरह के किरदार को शानदार अंदाज़ में निभाया।
  • बिग बॉस सीज़न 5 को होस्ट करने के साथ—साथ संजय दत्त ने राज कुंद्रा के साथ मिलकर साल 2012 में MMS भारत की पहली सुपर फाइट लीग MMA की भी शुरुआत की।
  • संजय दत्त तमाम चैरिटी इवेंट्स से भी जुड़े हुए हैं।

संजय दत्त की ज़िंदगी इतने उतार चढ़ाव से भरी रही है कि कई बार लोग कहते हैं कि ये रियल नहीं रील लाइफ है, पर कोई कुछ भी कहे है तो ये संजू बाबा की ज़िंदगी की हकीकत ही। वैसे एक बात तो है कितना भी टफ टाइम आया हो, संजय दत्त ने कभी हार नहीं मानी। वो जब भी गिरे, दोबारा उठे, खुद को तैयार किया और फिर अपने फैंस का दिल जीतते गए। तभी तो कहते हैं कि संघर्ष की भट्टी से निकलकर आया है अपना ये संजू बाबा।

Unbiased India की पूरी टीम की तरफ से हैप्पी वाला बर्थडे मुन्ना भाई।

5 2 votes
Article Rating