ये SUNDAY है बहुत SPECIAL भाई-बहन के रिश्ते का सेलिब्रेशन, आज है रक्षाबंधन

आज है बहुत ही स्पेशल संडे इसलिए मैं आपके लिए लेकर आ गई हूं SUNDAY WITH SHWETA. तो दोस्तों, हम सभी जानते हैं कि आज पूरे धूम, पूरी रौनक के साथ भाई – बहन के रिश्तों का स्पेशल सेलिब्रेशन डे है यानी कि रक्षाबंधन। बाजार की रौनक, घर की सजावट, थालियों से कलाईयों तक पहुंचती राखियां और बहन को प्यारे प्यारे से गिफ्ट के साथ दिया जाता एक प्यारा सा वचन- हमेशा साथ निभाने का। पर सच कहिए क्या आप कह पाते हैं अपनी बहन से कि मैं हर situation में तेरे साथ हूं। क्या आपने अपने भाई से कहा कि छोटे मोटे मनमुटाव के बाद भी मैं आपकी लाडली बहना ही रहूंगी और आप मेरे भाई राजा।

तो इस रक्षाबंधन राखी के धागे के संग कुछ ख़ास वचन की डोर भी बांधिए…

  • बचपन की बातों को कभी नहीं भूलेंगे। बचपन में हम कितनी शरारतें करते हैं, एक दूसरे से लड़ते झगड़ते हैं और उस झगड़े में एक दूसरे से ये कहना नहीं भूलते, जा मैं तुझसे बात नहीं कर रहा, पर अगले ही पल मिल जाते हैं। फिर बड़े होने पर छोटी छोटी बातें इतनी बड़ी क्यों बना लेते हैं कि मन में ऐसी गांठ पड़ जाए जो खुले ही न। तो जब भी लगे न कि आप एक दूसरे से किसी भी वजह से दूर हो रहे हैं, तो बस बचपन की वो pillow fight या फिर एक दूसरे के साथ बिताए ख़ास पलों को याद करिए और वचन लीजिए और दीजिए कि कोई भी बात हमारे रिश्ते पर हावी नहीं होगी।
  • भाई की शादी के बाद अचानक ही उसे पराया मानने की जगह भाभी को भी दोस्त बनाइए। ज़रा सोचकर देखिए आपके भाई को जीवनसंगिनी मिली है तो उन्हें भी तो एक दूसरे को समझने का वक्त चाहिए न, तो ऐसे में ये सोचना कि शादी के बाद मेरा भाई बदल गया is not a good सोच। इस सोच को बदल डालिए। आपका भाई हमेशा आपका भाई ही रहेगा, बस अब वो किसी के बेटे और भाई के अलावा एक पति की भी भूमिका में होगा, जिसे उसे बखूबी निभाना है।
  • बचपन में कैसे हक से हम एक दूसरे से कुछ भी मांग लिया करते थे न, फिर बड़े होने पर क्यों कुछ भी कहने से पहले हिचक महसूस होती है। ठान लीजिए कि एक दूसरे से खुलकर हर बात करेंगे, क्योंकि जहां बातें नहीं होतीं न वहां खुद ब खुद नासमझी और गलतफहमियों के ऐसे जाले बुन जाते हैं जिन्हें साफ करने में ज़माने लग जाते हैं।

तो बस ठान लीजिए की बचपन की bonding को रखेंगे बरकरार और करते रहेंगे खट्टी मीठी तकरार और ढेर सारा प्यार। वैसे बॉलीवुड ने भी भाई बहन के इस प्यार को परदे पर उतारने की बखूबी कोशिश की है।

आज के दिन आप देख सकते हैं भाई—बहन का प्यार दर्शाने वाली कुछ फिल्में…

फिल्म हम साथ—साथ हैं का एक दृश्य.

 ऐश्वर्या राय और शाहरुख खान की साल 2000 में आई ‘जोश’ फिल्म आपको याद ही होगी। अरे वही जिसमें ऐश्वर्या अपने भाई को फुल सपोर्ट करती नज़र आती हैं। जिसका गाना ‘अपुन बोला तू मेरी लैला’ ख़ासा फेमस हुआ था। इस फिल्म ने दिखाया भाई-बहन की दोस्ती का रंग।

 सलमान और काजोल की फिल्म ‘प्यार किया तो डरना क्या’ का ज़िक्र तो यहां बनता है, जहां अरबाज़ एक पिता की तरह अपनी छुटकी का ख्याल रखते नज़र आते हैं। तो यहां दिखा बड़े भाई का पिता वाले प्यार का रंग।

 ‘इकबाल’, एक ऐसी फिल्म जहां अपने मूक बधिर भाई श्रेयस की आवाज़ बनीं श्वेता बासु। इस फिल्म ने दिखाया एक दूसरे की हिम्मत बनकर मंज़िल तक साथ रहने वाला रंग।

 फिल्म ‘जाने तू या जाने न’, जेनेलिया और प्रतीक की मासूमियत से सजी फिल्म, जिसने दिखाया एक दूसरे से खूब लड़ना और एक दूसरे को सबसे ज्यादा समझने वाला रंग।

 फिल्म ‘दिल ध़ड़कने दो’, रणवीर और प्रियंका की बॉन्डिंग के ज़रिए दिखाती है माता पिता से भी ज्यादा एक दूसरे को समझने वाला, साथ निभाने वाला रंग।

 फिल्म ‘हम साथ साथ हैं’, दिखाती है अपने भाई बहनों के लिए त्याग और समर्पण और बहुत बहुत बहुत प्यार वाला रंग।

वैसे तो फिल्मों की फेहरिस्त बहुत लंबी है। लेकिन आप अगर यही पढ़ते रहेंगे तो अपना राखी सेलिब्रेशन कैसे करेंगे। तो जाइए और ज़िंदगी के हर एक लम्हे को खुलकर जीते हुए अपनी बॉन्डिंग को कीजिए मज़बूत। दीजिए एक दूसरे का साथ। और खिलखिलाते हुए लड्डू खिलाते हुए, गाते गुनगुनाते कहिए हैप्पी रक्षाबंधन। जी हां, टीम UNBIASED INDIA की तरफ से आप सभी को Happy Rakshabandhan.

sunday-with-shweta
पढ़ते रहिए Sunday with Shweta सिर्फ UNBIASED INDIA पर.
Share this Article
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!