पर्व—त्योहार

राधाष्टमी | राधे के बिना अधूरी है कृष्ण की पूजा

आज राधाष्टमी है। जिस प्रकाश श्रीकृष्ण अष्टमी का महत्व है, उसी प्रकाश राधाष्टमी का भी अपना महत्व है। भाद्रपद शुक्ल पक्ष की अष्टमी को जगज्जननी पराम्बा भगवती राधा का जन्म हुआ था। अतः इस दिन राधाजी का व्रत करना चाहिए। माना जाता है कि राधे की भक्ति के बिना श्रीकृष्ण की पूजा अधूरी है। राधाष्टमी

तीर्थ स्थान

श्री वृंदावन धाम… यही तो है राधा रानी का निवास

धन-धन वृन्दावन रजधानी।जहाँ विराजत मोहन राजा श्री राधा महारानी।सदा सनातन एक रस जोरी महिमा निगम ना जानी।श्री हरि प्रिया हितु निज दासी रहत सदा अगवानी॥ विश्व के सभी स्थानों में श्री धाम वृन्दावन का सर्वोच्च स्थान माना गया है। इस धाम की महिमा वही समझ सकता है, जिसपर ब्रजरानी श्री राधारानी की कृपा बरसती है।वृन्दावन

error: Content is protected !!