<> Shikha Singh आर्काइव | UNBIASED INDIA >

डॉ. अरविंद : कलयुग का सारथी

गुमसुम सी हैं शहर की गलियां, गुम सी हैं मासूमों की मस्तियां, मुक्त हो गगन में…

error: Content is protected !!