सावधान! हवा से भी फैलता है Corona Virus

अंतरराष्ट्रीय

कोरोना वायरस के बारे में वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि यह वायरस हवा से भी फैलता है। यह दावे के बाद इस वायरस से बचने के लिए सभी को पहले से कई गुना अधिक सावधान होने की जरूरत है। बता दें दुनियाभर में कोरोना की वजह से एक करोड़ 15 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। जबकि पांच लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने पहले कहा था कि कोरोना हवा से लोगों में नहीं फैलता। डब्ल्यूएचओ ने कहा था कि यह खतरनाक वायरस सिर्फ थूक के कणों से ही फैलता है। ये कण कफ, छींक और बोलने से शरीर से बाहर निकलते हैं। थूक के कण इतने हल्के नहीं होते जो हवा के साथ यहां से वहां उड़ जाएं। अब वैज्ञानिकों ने डब्ल्यूएचओ से इस वायरस के बारे में दी गई जानकारी में तुरंत संशोधन करने का आग्रह किया है।

‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ में छपी एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार, 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया है कि यह वायरस हवा के जरिए भी फैलता है। वैज्ञानिकों के अनुसार, कोरोना वायरस के छोटे-छोटे कण हवा में भी जिंदा रहते हैं और वे भी लोगों को संक्रमित कर सकते हैं। इन 239 वैज्ञानिकों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को एक खुला पत्र लिखा है और दावा किया है कि इस बात के पर्याप्त सबूत हैं जिससे यह माना जाए कि इस वायरस के छोटे-छोटे कण हवा में तैरते रहते हैं, जो लोगों को संक्रमित कर सकते हैं।

इस बारे में डब्ल्यूएचओ में कोरोना टेक्निकल टीम के हेड डॉ बेनेडेटा अलेगरैंजी ने बताया कि ‘हमने यह कई बार कहा है कि यह वायरस एयरबोर्न भी हो सकता है लेकिन अभी तक ऐसा दावा करने के लिए कोई ठोस और साफ सबूत नहीं मिले हैं।

Facebook Comments Box
Breaking news Corona guideline Corona Update Corona Virus Corona Virus Update corona virus update in india Covid 19 Covid 19 in India Covid 19 in world new theory about corona virus study on corona virus Unbiased news Unbiased News updates कोरोना के बारे में नया दावा कोरोना पर अध्ययन कोरोना पर शोध कोरोना वायरस क्या है कोरोना डब्ल्यूएचओ न्यूयार्क टाइम्स ब्रेकिंग न्यूज विश्व स्वास्थ्य संगठन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related Posts

अंतरराष्ट्रीय आज का इतिहास प्रादेशिक राष्ट्रीय

TODAY HISTORY | जब भारत में समलैंगिक संबंधों को कानूनी मान्यता मिल गई

6 सितंबर का इतिहास | आज का इतिहास | Today’s History | Aaj ka Itihas | 6th September in History

हर तारीख़ के साथ कुछ ऐसी

अंतरराष्ट्रीय विशेष

Teacher’s Day | 5 सितंबर को शिक्षक दिवस क्यों मनाते हैं?

गुरु कहें, शिक्षक कहें, सर कहें, मैडम कहें या फिर टीचर। अलग—अलग चेहरे हैं, अलग—अलग नाम हैं लेकिन सभी का काम एक, अपने शिष्य की

error: Content is protected !!